Thursday, February 22, 2024
Homeउत्तर प्रदेशChandauli news:जिलाधिकारी निखिल टी फुंडे की अध्यक्षता में जिला स्तरीय पोषण कन्वर्जेंस...

Chandauli news:जिलाधिकारी निखिल टी फुंडे की अध्यक्षता में जिला स्तरीय पोषण कन्वर्जेंस समिति की बैठक

-

spot_img

चंदौली

बाल विकास विभाग की सभी सेवाओं तथा योजनाओं के बेहतर प्रगति के लिए सभी विभागीय अधिकारी आपसी समन्वय स्थापित करते हुए करे कार्य जिलाधिकारी

जिलाधिकारी निखिल टी फुंडे की अध्यक्षता में जिला स्तरीय पोषण कन्वर्जेंस समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गयी।

बैठक के दौरान ज़िला कार्यक्रम अधिकारी जया त्रिपाठी ने संभव अभियान की प्रगति, पोषण ट्रैकर एप पर वजन गृहभ्रमण वजन सामुदायिक गतिविधियों तथा राशन वितरण की फीडिंग की माह अगस्त 23 की स्थिति से अवगत कराया गया।

जिलाधिकारी द्वारा सभी बाल विकास परियोजना अधिकारीयों को निर्देशित किया कि पोषण ट्रैकर एप पर सभी बिंदुओं पर शत प्रतिशत फीडिंग अनिवार्य रूप से सुनिश्चित कराये तथा राशन वितरण की फीडिंग प्रत्येक दशा में शत प्रतिशत सुनिश्चित किया जाय।

जिलाधिकारी ने प्रत्येक विकास खण्ड में चयनित आंगनबाड़ी केंद्र लर्निंग लैब के निर्माण के लिए सभी संबंधित खंड विकास अधिकारियो तथा ज़िला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया कि समयबद्ध तरीके से 25 सितंबर तक लर्निंग लैब का काम पूरा कर ले। बरहनी विकास खंड से विगत दो माहों में सैम बच्चों के संदर्भ न किये जाने के प्रकरण पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी से कहा कि ये स्थिति स्वीकार करने योग्य नहीं है इसके संबंधित उत्तरदायी आर.बी.एस.के. टीम के चिकित्सकों तथा प्रभारी चिकित्साधिकारी बरहनी से वार्ता की जाय।
ज़िला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा समिति को अवगत कराया गया कि जून माह में पोषण पुनर्वास केंद्र चकिया में कुल 19 सैम बच्चों को चिह्नित कराया गया तथा बेड आकूपेंसी रेट 85.80% रही।
बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने संभव अभियान में चंदौली जनपद का कुल कंपोजिट स्कोर 66 रहा जिसे संभव अभियान के समापन होने तक शत प्रतिशत लक्ष्य पाने का पूर्ण प्रयास जारी रखें जाय।

जिलाधिकारी ने समस्त प्रभारी चिकित्साधिकारियों को चेतावनी सहित निर्देशित किया कि बाल विकास परियोजना अधिकारियों द्वारा सैम बच्चों की जो भी सूची उपलब्ध करायी जाती है उसका ई-कवच पर शत प्रतिशत फीडिंग तथा फालोअप कराये तथा इसका विवरण बाल विकास परियोजना अधिकारियों को भी उपलब्ध कराये।

मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा नान स्कूल गोईंग किशोरी बालिकाओं के आयरन गोली वितरण उपभोग एवं अभिलेखीकरण पर सभी बाल विकास परियोजना अधिकारी तथा प्रभारी चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया ।

अतिरिक्त आंगनबाड़ी केंद्र निर्माण की प्रगति पर जिलाधिकारी द्वारा नाराजगी व्यक्त किया गया एवं निर्देशित किया गया कि सभी कार्यदायी संस्था आंगनबाड़ी केंद्र भवन के निर्माण का लक्ष्य 15 अक्टूबर तक एवं सभी अवशेष निर्माण कार्य 30 सितंबर तक हर हालत में पूरा करना सुनिश्चित करें।

आजीविका मिशन द्वारा संचालित टीएचआर उत्पादन एवं वितरण की निरंतरता बनाये रखने के लिए निर्देशित किया गया ।
जिलाधिकारी द्वारा जिला विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि जनपद चंदौली में संचालित सभी टीएचआर उत्पादन केंद्र शत प्रतिशत हर माह उत्पादन का लक्ष्य हासिल करें तथा अगले महिने की बैठक में प्रतिदिन के उत्पादन तथा वितरण के विवरण के साथ उपस्थित रहे।

जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों सहायिका के पीएलआई-1 एवं 2 के 93 प्रतिशत भुगतान से समिति को अवगत कराया ।

बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी एस एन श्रीवास्तव, मुख्य चिकित्साधिकारी वाई के राय,बेसिक शिक्षा अधिकारी सतेंद्र सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी ब्रम्हचारी दुबे, खाद्य रसद आपूर्ति अधिकारी, डीसी मनरेगा आजीविका मिशन के अधिकारियों सहित समस्त खंड विकास अधिकारी, प्रभारी चिकित्साधिकारी अधिकारी पोषण पुनर्वास केंद्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी एवं जनपद के समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी उपस्थित रहे तथा मंडल कोआर्डिनेटर यूनिसेफ तथा टीएसयू के अजय परमार विफ्स कार्यक्रम की सुनीता सिंह मंडल कन्सल्टेंसी न्यूट्रीशन इंटरनेशनल भी उपस्थित रही ।

spot_img

सम्बन्धित ख़बरें

spot_img

हमे फॉलो करें

6,722FansLike
6,817FollowersFollow
3,802FollowersFollow
1,679SubscribersSubscribe
spot_img

ताजा ख़बरें

spot_img
error: Content is protected !!