Home Blog सरकारी जमीन पर भू माफिया का अवैध कब्जा

सरकारी जमीन पर भू माफिया का अवैध कब्जा

0

अलीनगर(चंदौली)- योगी सरकार जिस तरह अतिक्रमणकारियों,भूमाफियाओं के खिलाफ जीरो टोलरेंस का दावा कर रही है उनके अधिकारी उन दावो को पलीता लगाने में चूक नही रहे है।ताजा मामला अलीनगर के धमिना गाँव का है जहाँ करीब ढाई एकड़ सरकारी बंजर जमीन पर एक ही परिवार के दबंगो का कई वर्षों से कब्जा है।इस संबंध में शिकायतकर्ता अरविंद कुमार मामले को लेकर कोर्ट के चक्कर लगा रहे हैं।कई बार कोर्ट के आदेश के बावजूद राजस्व विभाग के अधिकारी मामले में दिलचस्पी नही ले रहे हैं।बताया जाता है कि धमिना गाव में कैलाश यादव,मुन्नू यादव,बलवंत यादव,जंगबहादुर यादव व राजेन्द्र यादव द्वारा कई वर्षों से ढाई एकड़ सरकारी बंजर जमीन पर कब्जा जमाए हुए हैं।सरकारी जमीन को अतिक्रमणकारियों से मुक्त कराने के लिए शिकायतकर्ता अरविंद कुमार सन 2007 से अधिकारियों से शिकायत करते आ रहे हैं। 2007 में एसडीएम सकलडीहा द्वारा आदेश के बाद उक्त जमीन को अतिक्रमण मुक्त नही कराया जा सका।इसके बाद मामला उच्च न्यायालय गया जहाँ से 2014 व 2015 में जारी हुए आदेश का भी पालन नही हुआ। गत वर्ष आईजीआरएस पोर्टल पर शिकायत की गई जहा शिकायतकर्ता का आरोप है कि बिना कार्रवाई किये रिपोर्ट लगा दी गयी कि मामले का निस्तारण हो गया।अब मार्च 2023 में एक बार फिर शिकायतकर्ता के पक्ष में उच्च न्यायालय ने अपना फैसला सुनाते हुए अतिक्रमण की गई सरकारी बंजर भूमि को तीन माह के भीतर मुक्त कराने के आदेश जारी किए हैं।उच्च न्यायालय के आदेश की अनदेखी कर जिला प्रशासन ने अब तक कोई कार्रवाई नही की।जिसे लेकर शिकायतकर्ता अब न्यायालय के आदेश की अवहेलना का मामला दर्ज कराने की तैयारी में है।शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि 2007 से अब तक कई सरकारे बदली लेकिन राजनैतिक दबाव में मामला हर बार ठंडे बस्ते में डाल दिया गया लेकिन अब योगी सरकार से काफी उम्मीदें जताते हुए बताया कि भूमाफियाओं के खिलाफ बाबा का बुलडोजर चंदौली में भी जरूर गरजेगा और न्याय मिलने तक वे भूमाफियाओं के खिलाफ इस लड़ाई को लड़ते रहेंगे।

ढाई एकड़ जमीन पर एक ही परिवार का अवैध कब्जा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here