Home उत्तर प्रदेश Ghazipur News: लोगों ने सीएम से शिकायत कर महादेव हास्पिटल बंद करने का किया मांग

Ghazipur News: लोगों ने सीएम से शिकायत कर महादेव हास्पिटल बंद करने का किया मांग

0
Ghazipur News: लोगों ने सीएम से शिकायत कर महादेव हास्पिटल बंद करने का किया मांग

– Advertisement –

महादेव हास्पिटल पर पीड़ित ने लगाया गंभीर आरोप, वीडियो वायरल

फर्जी हास्पिटलो में जान से हो रही है खिलवाड़

गाजीपुर। सादात थाना क्षेत्र अंतर्गत महादेव हॉस्पिटल पर एक पीड़ित ने गंभीर आरोप लगाया है जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है। कुछ लोगों ने सीएम हेल्पलाइन पर हास्पिटल बंद होने की मांग किया है। ओड़ासन गांव निवासिनी पुष्पा बनवासी (25) पत्नी मनोज बनवासी जो एक बच्चे की मां है।वायरल वीडियो में पीड़ित ने आरोप लगाते हुए बताया कि मेरे पत्नी को अचानक बाथरूम के रास्ते से लैट्रिन होने लगा तो मनोज बनवासी ने महादेव हॉस्पिटल में दिखाया महादेव हॉस्पिटल के डॉक्टर ने कहा कि पच्चीस हजार रुपए में हम ठेका ले रहे हैं ठीक कर देंगे। लेकिन ऑपरेशन के एक सप्ताह बाद भी हालत वही रहा तो महादेव हॉस्पिटल के संचालक ने इन्हें वाराणसी के किसी प्राइवेट हॉस्पिटल को बताया उन्होंने कहा कि मेरे भाई का हास्पिटल है। वहां जाइए आपका ऑपरेशन हो जाएगा लेकिन वहां जाने पर भी तीन बार ऑपरेशन हुआ पच्चास हजार रुपए लगा।
पुष्पा की हालत और सीरियस होती गई तो कहां जांच करवाने के लिए जांच के लिए पास पैसे नहीं थे बिना कागज बिना लिखा पड़ी इसको वापस कर दिए।
पीड़ित ने बताया कि घर चला आया फिर जाकर के महादेव हॉस्पिटल पर कहा कि आप हमसे पैसा लिए और हमारा मरीज ठीक नहीं हो रहा है हमारा इलाज कराओ या हमें पच्चास हजार रुपए दीजिए मैं जाकर इलाज कराता हूं तो अस्पताल संचालक ने धमकी देते हुए भगा दिया मैं तुम्हें पहचानता नहीं हूं। उन्होंने कहा कि जब पहचानते नहीं हो तो घर क्यों दौड़ रहे हो दबाव डलवा रहे हो धमकी दिलवा रहे हो ।
अब सोचिए कि अगर निजी अस्पताल में इस तरह मरीजो का शोषण होने लगेगा तो भला कौन इलाज कराने जायेगा।सूत्रों की मानें तो कुछ दिनों पहले बक्सुपुर का मामला महादेव हॉस्पिटल में फंसा था ब्लड के नाम पर खूब खुलेआम वसूली हुई पच्चीस हजार लिया गया,डायरिया मरीज को भर्ती कर सुबह तक बारह हजार का बिल बन गया क्या पूरे स्वास्थ्य विभाग के और जिले के अधिकारी आंख बंद करके सोए हुए हैं ऐसे लापरवाहों पर कब करवाई होगी।
इस संबंध में हास्पिटल संचालक का जब पक्ष जानने का प्रयास किया गया तो हास्पिटल संचालक फोन नहीं उठाया।

– Advertisement –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here