Home उत्तर प्रदेश <em>केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय की अध्यक्षता में विद्युत एवं सिंचाई विभाग की बैठक संपन्न</em>

केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय की अध्यक्षता में विद्युत एवं सिंचाई विभाग की बैठक संपन्न

0
<em>केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय की अध्यक्षता में विद्युत एवं सिंचाई विभाग की बैठक संपन्न</em>

चंदौली

केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय की अध्यक्षता में विद्युत एवं सिंचाई विभाग की बैठक संपन्न

चंदौली/केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय की अध्यक्षता में कल देर रात विकास भवन सभागार में विद्युत एवं सिंचाई विभाग की समीक्षा बैठक चली।इस बैठक में जनपद चंदौली के विद्युत एवं सिंचाई व्यवस्था को लेकर मंथन हुआ।

सर्वप्रथम मंत्री महेंद्र पांडेय ने सिंचाई विभाग के उच्च अधिकारियों से उनके रजिस्टर में दर्ज सिंचाई विभाग की प्रमुख समस्याओं के बारे में जानकारी मांगी। उन्होंने पूछा कि सिंचाई विभाग के रजिस्टर में जनपद चंदौली के सबसे टिफिकल पॉइंट क्या है सबसे प्रमुख कठिनाई क्या हैं और उनके निदानात्मक/सुझावात्मक प्लान क्या हैं।इस प्रश्न का संतोसजनक उत्तर न मिल पाने पर केंद्रीय मंत्री ने गहरा असंतोष जाहिर किया।

बैठक के दौरान केंद्रीय मंत्री ने अधिशासी अभियंता चंद्रप्रभा की कार्यशैली पर गहरा असंतोष जाहिर करते हुए ट्यूबवेल से संबंधित एनओसी अब तक न दिए जाने पर कड़ी नाराजगी जताते हुए कहा कि यदि सोमवार तक एनओसी नहीं दिया गया तो कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

केंद्रीय मंत्री ने बैठक में उपस्थित सिंचाई विभाग के उच्चाधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपने अधीनस्थ अधिकारियों के साथ बैठक कर जनपद की सिंचाई से संबंधित सभी समस्याओं के दृष्टिगत एक दीर्घकालिक और तत्कालिक प्लान बना कर 3 दिन के अंदर जिलाधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करें।साथ ही इस प्लान के बारे में किसान और जनता को भी जानकारी दें। उन्होंने कहा कि उन्होंने सिंचाई समस्याओं को लेकर नोडल अफसर तैनात किए जाएं और उसकी जानकारी भी किसान और जनता को दी जाए।

विधायक सुशील सिंह ने टेल पर पानी न पहुंचने का मुद्दा उठाते हुए संबंधित अधिकारियों को आड़े हाथों लिया और कहा कि रोस्टर के अनुसार किसानों को पानी नहीं दिया जा रहा है।इसके साथ उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों पर विद्युत की कम आपूर्ति को लेकर नाराजगी जाहिर की।

जिलाधिकारी निखिल टी. फुंडे ने बताया कि खरीफ गोष्ठी के दौरान एक महत्वपूर्ण बैठक की गई जिसमें सिंचाई के सभी खंड एवं हाइडल के अधिकारी उपस्थित रहे। इस बैठक के दौरान नहरों का रोस्टर बनाया गया है।जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि इस रोस्टर से सभी जनप्रतिनिधियों को यथाशीघ्र अवगत कराएं साथ ही उन्होंने सिंचाई एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों को समन्वय बनाकर काम करने की नसीहत दी। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि उनके विभाग के जो भी प्रोजेक्ट लंबित हैं उनको लिखित रूप में मंत्री जी एवं विधायक जी को उपलब्ध करा दें जिससे कि उस पर आगे की कार्यवाही हो सके।

बैठक में उपस्थित जनप्रतिनियों एवं किसानों ने सिंचाई एवं विद्युत से संबंधित अनेक मुद्दों को उठाया जिस पर केंद्रीय मंत्री ने संबंधित अधिकारियों को यथाशीघ्र कार्यवाही करने का निर्देश दिया। बैठक में विधायक कैलाश आचार्य,जिला अध्यक्ष अभिमन्यु सिंह, सांसद प्रतिनिधि सर्वेश कुशवाहा एवं अन्य प्रमुख जनप्रतिनिधि एवं किसान उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here