Home उत्तर प्रदेश Sonbhadra News : हादसे में घायल होने के उपरांत घंटो तक तड़पता रहा बृद्ध,नही पहुंची एम्बुलेंस

Sonbhadra News : हादसे में घायल होने के उपरांत घंटो तक तड़पता रहा बृद्ध,नही पहुंची एम्बुलेंस

0
Sonbhadra News : हादसे में घायल होने के उपरांत घंटो तक तड़पता रहा बृद्ध,नही पहुंची एम्बुलेंस

– Advertisement –

सोनभद्र(Sonbhadra news)। आज निजी विद्यालय से नातिनी को लेने जा रहे वृद्ध को अज्ञात वाहन टक्कर मार दी। मदद के लिए लोगों ने तत्काल 108 नं0 एम्बुलेंस को फोन किया लेकिन सड़क किनारे लगभग एक घंटे तक वृद्ध घायलावस्था में तड़पता रहा लेकिन एम्बुलेंस मौके पर नहीं पहुँची, जिसके बाद वृद्ध को निजी वाहन से जिला अस्पताल ले जाया, जहाँ डॉक्टरों ने उसकी गंभीर स्थिति देखते हुए उसे वाराणसी के लिए रेफर कर दिया और जिला अस्पताल से महज एक किमी0 आफ जाते ही उसकी मौत हो गयी। जिसके बाद परिजनों द्वारा शव वापस ले आया गया। वहीं घटना की जानकारी मिलते ही सदर विधायक मौके पर पहुँच गए और पीड़ित परिवार से मिलकर सांत्वना दिया।

आज रॉबर्ट्सगंज थाना क्षेत्र के मझिगांव के पास अपनी नातिनी को छुट्टी के बाद निजी विद्यालय से वापस लेने जा रहे मझिगांव चौबे निवासी बदामा (65वर्ष) पुत्र स्व0 फेक्कन को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। घटना के बाद मौके पर राहगीरों की भीड़ जमा हो गयी। सुचना के बाद मौके पर पहुँचे परिजनों ने घटना की सुचना तत्काल 108 नं0 एम्बुलेंस को दिया लेकिन एक घंटे के बाद भी ज़ब एम्बुलेंस नहीं पहुँची तो परिजनों ने निजी वाहन से वृद्ध को जिला अस्पताल पहुँचाया, जहाँ डॉक्टरों ने बेहतर इलाज के लिए उसे वाराणसी के लिए रेफर कर दिया लेकिन वहाँ भी परिजनों को एम्बुलेंस के लिए आधे घंटे इंतजार करना पड़ा और ज़ब आधे घंटे तक एम्बुलेंस नहीं पहुंची तो निजी एम्बुलेंस से वाराणसी के लिए निकले ही थे कि एक किमी बाद ही वृद्ध की मौत हो गयी। जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए जिला अस्पताल भेजवा दिया.

समय से मिल जाती एम्बुलेंस तो बच सकती थी वृद्ध की जान-

वहीं बुजुर्ग की मौत के बाद परिजनों का गुस्सा साफ देखने को मिला। उन्होंने एंबुलेंस सेवा पर सवाल उठाते हुए कहा कि यदि समय से स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध हो जाती तो वृद्ध की जान बच सकती थी।

– Advertisement –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here